यूट्यूब फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेट फॉम के माध्यम से अश्लील वीडियो शेयर कर करोड़ों कमाने वाले यूट्यूबर हुए गिरफ्तार।

यूट्यूब फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेट फॉम के माध्यम से अश्लील वीडियो शेयर कर करोड़ों कमाने वाले यूट्यूबर हुए गिरफ्तार।



मुंबई(क्राइम)- लॉक डाउन की वजह से जहा लोगो का धंधा मंदा हो गया था वही कई ऐसे भी लोग थे जो लॉक डाउन पीरियड के समय में करोड़ों रुपए कमा रहे थे मुंबई क्राइम ब्रांच की साइबर सेल ने यूट्यूब चैनल चलाने वाले तीन लोगो का गिरफ्तार किया है ये आरोपी प्रैंक वीडियो के नाम पर अश्लील कैंटेंट डालकर सोशल मीडिया के माध्यम से करोड़ों रुपए कमा रहे थे, गिरफ्तार आरोपियों के नाम मुकेश गुप्ता ( जो ठाणे में कोचिंग सेंटर संचालित) करता है वही दूसरा आरोपी जितेंद गुप्ता(बी एस एम एस) सेंकन्ड ईयर्स और साथ ही तीसरा आरोपी नटखट उर्फ प्रिंस कुमार भी बी एच एम एस का दितीय वर्ष का छात्र है क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस मिलिंद भारंबे ने बताया है कि यह लोग अश्लील वीडियो से
करोड़ों रुपए भी कमाते थे।

अब तक की जांच में दो करोड़ सामने आया है लेकिन यह आंकड़ा आगे चलकर और भी बढ़ सकता है. पुलिस को जांच में अभी पता चला कि इनके एक वीडियो के पीछे 2000 से ₹3000 तक खर्च होते थे और उस एक वीडियो के माध्यम से यह लोग करीब 50 हजार तक कमा लेते थे.

पुलिस को अबतक ऐसे 17 यूट्यूब चैनल के बारे में जानकारी मिली है जिसपर इनलोगों ने 300 से ज्यादा वीडियोस अपलोड किए हैं. पुलिस ने इस तरह के अश्लील चैनलो को भी बंद करने के लिए यूट्यूब को लिखा है और मामले की जांच कर रही है.

mpnow.in

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel