स्कूल फीस न देने पर दिल्ली पब्लिक स्कूल(DPS) ने शिक्षा मंत्री की नातिन का नाम स्कूल से काटा



एमपी नाउ डेस्क

बोकारो/रांची। झारखंड के बोकारो स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल ने समय पर फीस न भरने पर राज्य के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो की नातिन का नाम काट दिया। मंत्री स्वयं फीस जमा करने स्कूल पहुंचे तब कहीं जाकर उनकी नातिन का नाम स्कूल की ऑनलाइन कक्षा में वापस लिखा गया। शिक्षा मंत्री ने कहा कि नाम कटने की जानकारी मिलने पर वह शनिवार को बोकारो के चास स्थित डीपीएस स्कूल पहुँचे और नियमों के अनुसार अपनी नातिन की फीस जमा की। उन्होंने स्कूल के काउंटर पर खड़े होकर नतिनी का अप्रैल से सितंबर 2020 तक प्रत्येक महीने के 3,800 रुपए के हिसाब से 22,800 रुपए शिक्षण शुल्क जमा किया।

शिक्षा मंत्री महतो ने कहा कि उन्होंने फीस जमा की और निजी विद्यालयों की स्थिति का जायजा भी लिया।  घटना की जानकारी जैसे ही मुख्य विपक्षी दल भाजपा को लगी तो भाजपा ने तंज करते हुए कहा कि निजी स्कूलों की मनमानी का आलम सरकार को आईना दिखाने के लिए पर्याप्त है। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि चास के दिल्ली पब्लिक स्कूल की घटना तो बस एक उदाहरण मात्र है। 

मामला शिक्षा मंत्री के नातिन का था इसलिए स्कूल ने वापस नाम जोड़ लिया मगर प्रदेश में लाखों अभिभावक प्राइवेट स्कूल की मनमानी से परेशान है इन स्कूलों के सामने राज्य का शिक्षा मंत्रालय और सरकार ने घुटने टेक दिए है

Popular posts from this blog

क्यो स्त्री को देवी का दर्जा दिया गया है कविता मिश्रा DU स्टूडेंट्स और पत्रकार दिल्ली।

शिवतांडव स्तोत्रपाठ कर रातों रात करोड़ो लोगों के दिल मे जगह बनाने वाले बाबा कालीचरण MP NOW EXCLUSIVE

भव्य होगी 10 दिवसीय श्रीरामलीला