प्राइवेट बैंक आम लोगों को अपनी उंगली में नाचने से बाज नही आ रहे

प्राइवेट बैंक आम लोगों को अपनी उंगली में नाचने से बाज नही आ रहे

mpnow.in
[email protected]

एमपी नाउ छिंदवाड़ा
कोरोना महामारी में जहां पूरा देश एक सूत्र में बंध कर इस संक्रमण से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री अपील के बाद,
अपने -अपने घरों में कैद हो गया है जिससे उनके सारे काम धंधे और बिजनेस पूरी तरह ठप हुए पड़े है वहाँ कई ऐसे प्राइवेट बैंक है जो लोंगो को अभी भी बाइक, घर विभिन्न प्रकार के लोन की ईएमआई के लिए कॉल एव मेसेज के माध्यम से चेताया जा रहा है कि अपनी सभी प्रकार की ईएमआई को निर्धारित दिनांक में जमा करें अन्यथा आपको जुर्माना    लगने के साथ आपका सिविल  भी खराब होगा !
जहां एक और प्रधानमंत्री आम लोगों से अपील कर रहे है लोगों की मदद करे परिस्थितियों के हिसाब से देश के हर एक नागरिक का कर्तव्य है कि वहाँ देश के प्रति अपना दायित्व निभाए पर ऐसा में प्राइवेट बैंको की "आखों का पानी ढलना" जैसा प्रतीत नजर आ रहा है,जहां जिला प्रशासन ने मकान मालिकों के लिए आदेश निकाले की,
""अभी जब तक लॉक डाउन है किराएदार को किराये के लिए परेशान न करें"" ऐसे कोई आदेश क्या इन प्राइवेट बैंकों को लेकर भी दिए जायगे या सिर्फ जिले के अंदर  सिर्फ अंधेर खाता ही नजर में आएगा


AD SAHU
7974243239

mpnow.in

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel